मुझे क्या डरायेगा मौत का मंजर
हमने तो जन्म ही कातिलों की बस्ती में लिया है

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *