जब प्यार नहीं है तो भुला क्यों नहीं देते
ये ख़त किसलिए रखे हैं जला क्यों नहीं देते

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *